बिहार में चुनावी शंखनाद के साथ केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने रचा ये इतिहास, देखें ये रिपोर्ट

बिहार विधानसभा चुनाव 2020 के लिए भारतीय जनता पार्टी ने चुनावी शंखनाद कर दिया है। इसी चुनावी शंखनाद के साथ भारत में वर्चुअल चुनावी रैली को संबोधित केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने एक इतिहास भी रच दिया। अमित शाह ने रविवार को वर्चुअल रैली ‘बिहार जनसंवाद’ को संबोधित किया। अमित शाह ने रैली को संबोधित करते हुए कहा कि लाल बहादुर शास्त्री के बाद पीएम नरेंद्र मोदी ही एक मात्र ऐसे नेता हैं, जिनकी एक आवाज़ पर लोगों ने घर के अंदर रहकर थाली बजाई, दिया जलाया।

भारतीय इतिहास में पहली बार वर्चुअल रैली को संबोधित करते हुए अमित शाह ने कहा कि कोरोना बीमारी की वजह से अपनी जान गवा चुके लोगों को श्रद्धांजलि अर्पित करता हूँ। अमित शाह ने कोरोना की जंग लड़ रहे पॉजिटिव लोगों से कहा कि वो जल्दी स्वास्थ्य होकर वापस आये और आत्मनिर्भर भारत मे अपना योगदान दें।
अमित शाह ने विपक्ष की थाली पर कटाक्ष करते हुए कहा कि विपक्ष ने हमारे ही ताली-थाली अभियान का आज समर्थन किया है।

अमित शाह की सफाई,इस वर्चुअल रैली का बिहार चुनाव से कोई संबंध नही है।ये रैली है भारत को आत्मनिर्भर बनाने के मोदी के आह्वान से जुड़ने के लिये।देशभर में हम 75 वर्चुअल रैली करेंगे।
अमित शाह ने तेजस्वी का नाम लिए वगैर कहा कि सरकार मजदूरों के लिये काम कर रही थी तब आप क्या कर रहे थे। आप दिल्ली में थे या बिहार में? ये बिहार के लोगों को बताइए।

अमित शाह ने कोरोना काल मे बिहार के लिये और मजदूरों के लिये किये गए कार्यों का विस्तार से उल्लेख किया। साथ ही विपक्ष से सवाल भी किया। कांग्रेस जरा बताए कि उसने क्या किया। हम लालटेन राज से एलईडी राज तक आये हैं। लूट एंड आर्डर से लॉ एंड आर्डर तक आये हैं। जंगल राज्य से हम जनता राज्य तक आये हैं। अमित शाह ने कहा कि बिहार के आगामी चुनाव में दो तिहाई बहुमत से फिर सरकार बनाएंगे। इससे पहले सुशील मोदी ने कहा कि अभी तो ये हमारा वर्चुअल कैम्पेन है, और हड़कंप मच गया, विपक्ष ताली और थाली बजा रहा है। जब हम असल मे चुनाव प्रचार शुरू करेंगे, तब विपक्ष कहीं नजर नहीं आएगा।

You Might Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *